Shiv Shakti Point, Tiranga Point, and National Space Day: Celebrating India’s Lunar Achievements 2023

एक ऐतिहासिक क्षण में जो भारत के अंतरिक्ष अन्वेषण इतिहास में हमेशा अंकित रहेगा, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ISRO (Indian Space Research Organisation) से संबंधित तीन महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं। इन घोषणाओं में चंद्रयान 3 के लैंडिंग बिंदु का नाम Shiv Shakti Point, चंद्रयान 2 के प्रभाव बिंदु का नाम Tiranga Point और 23 अगस्त को National Space Day के रूप में नामित करना शामिल है। 23 अगस्त, 2023 को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफल सॉफ्ट लैंडिंग, भारत के अंतरिक्ष प्रयासों के लिए एक बड़ी उपलब्धि थी।

Shiv Shakti Point: शक्ति और एकता का प्रतीक

बेंगलुरु में ISRO टेलीमेट्री ट्रैकिंग और कमांड नेटवर्क (ISTRAC) की एक महत्वपूर्ण यात्रा के दौरान, प्रधान मंत्री मोदी ने चंद्रयान -3 मिशन की उपलब्धियों की सराहना की। इस यात्रा का एक उल्लेखनीय आकर्षण चंद्रयान-3 के चंद्रमा लैंडर लैंडिंग स्थल का ‘Shiv Shakti Point’ नाम रखा जाना था। यह नाम मात्र प्रतीकवाद से परे है, जो भारत के संकल्प, शक्ति और हिमालय से कन्याकुमारी तक फैली राष्ट्र की एकजुट भावना के गहन दार्शनिक मूल्यों को समाहित करता है।

प्रधानमंत्री ने 21वीं सदी की चुनौतियों से निपटने में देश की भूमिका पर जोर देते हुए वैश्विक मंच पर भारत के बढ़ते आत्मविश्वास को रेखांकित किया। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास चंद्रयान-3 की विजयी लैंडिंग ISRO की असाधारण क्षमताओं और वैश्विक वैज्ञानिक समुदाय में इसकी महत्वपूर्ण स्थिति का प्रमाण है।

Shiv Shakti Point, Tiranga Point, and National Space Day

Tiranga Point: गौरव और प्रगति की यात्रा

अंतरिक्ष अन्वेषण में भारत की प्रगति को मान्यता देने वाले एक और प्रभावशाली संकेत में, जिस स्थान पर चंद्रयान -2 ने चंद्रमा पर अपनी छाप छोड़ी थी, उसका नाम ‘Tiranga Point’ रखा गया था। यह नाम न केवल भारत के गौरव का प्रतीक है, बल्कि एक विकासशील देश से एक ऐसे देश के रूप में विकसित होने का भी प्रतीक है जो आत्मविश्वास से आकाशीय पिंडों तक पहुंचता है।

प्रधान मंत्री ने यात्रा की चुनौतियों और विजयों पर प्रकाश डालते हुए, ISRO के दक्षिणी स्थान और चंद्रयान -3 की उल्लेखनीय उपलब्धि के बीच हार्दिक समानता दिखाई। इन प्रगतियों के बीच, भारत के युवाओं को एक विशेष जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्हें वैज्ञानिक अनुसंधान में गहराई से जाने, प्राचीन भारतीय ग्रंथों में पाए गए खगोलीय सूत्रों का पता लगाने और देश की बढ़ती वैज्ञानिक शक्ति में योगदान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

Also read: Inter Miami vs New York Red Bulls Recap: Messi के शानदार गोल ने 2-0 से जीत पक्की की

National Space Day: उपलब्धियों और महत्वाकांक्षाओं का सम्मान

23 अगस्त अब भारत के कैलेंडर की एक सामान्य तारीख नहीं रह गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने चंद्रमा पर चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग की महत्वपूर्ण उपलब्धि की याद में इसे ‘National Space Day’ घोषित किया। यह घोषणा न केवल मिशन की सफलता का जश्न मनाती है बल्कि भारत को अंतरिक्ष अन्वेषण में एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में स्थापित करती है।

इस तरह की लैंडिंग को पूरा करने वाले विश्व स्तर पर चौथे देश के रूप में, भारत यूएसएसआर, यू.एस. और चीन जैसे देशों की विशिष्ट श्रेणी में शामिल हो गया है। फिर भी, आकांक्षाएँ इस मील के पत्थर से कहीं आगे तक फैली हुई हैं। भारत का अंतरिक्ष क्षेत्र उद्यमशीलता की भावना से चिह्नित है जो एक जीवंत भविष्य का वादा करता है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि आने वाले वर्षों में अंतरिक्ष उद्योग का मूल्य 8 से 16 अरब डॉलर तक दोगुना होने की संभावना है, और ISRO लगातार अंतरराष्ट्रीय मंच पर अपनी ताकत का प्रदर्शन कर रहा है, चंद्रमा पर ‘शिव शक्ति’ और ‘Tiranga’ नाम इससे भी अधिक महत्वपूर्ण हैं। लेबल—वे भारत की प्रगति, एकता और संभावनाओं से भरे भविष्य का संकेत देते हैं।

Chandrayaan-3 Landing Spot To Be Named Shiv Shakti, Says PM Modi

Read more at: https://www.bqprime.com/chandrayaan-3/chandrayaan-3-landing-spot-to-be-named-shiv-shakti-says-pm-modi
Copyright © BQ Prime

निष्कर्ष

Shiv Shakti Point, Tiranga Point और National Space Day के संबंध में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणाएं भारत की अंतरिक्ष अन्वेषण यात्रा में एक महत्वपूर्ण क्षण हैं। ये निर्णय न केवल ISRO की उपलब्धियों का सम्मान करते हैं बल्कि भारत की ताकत, एकता और प्रगति के गहरे मूल्यों को भी दर्शाते हैं। जैसे-जैसे देश सितारों तक पहुंचना जारी रखता है, चंद्रमा की सतह पर ये प्रतीकात्मक नाम वैज्ञानिक नवाचार के प्रति भारत की अटूट प्रतिबद्धता और अंतरिक्ष अन्वेषण में वैश्विक नेताओं के बीच इसके स्थान की याद दिलाते हैं।

पूछे जाने वाले प्रश्न

1. Shiv Shakti Point का क्या महत्व है? Shiv Shakti Point भारत के संकल्प, शक्ति और एकता का प्रतीक है, जो उत्तर से दक्षिण तक देश के विशाल संबंध का प्रतिनिधित्व करता है।

2. चंद्रयान 2 की लैंडिंग साइट को Tiranga Point क्यों कहा जाता है? Tiranga Point भारतीय ध्वज के रंगों के समान, एक विकासशील देश से अंतरिक्ष अन्वेषण में एक आत्मविश्वासी खिलाड़ी बनने की भारत की यात्रा का प्रतीक है।

3. National Space Day क्या है? 23 अगस्त को घोषित National Space Day, चंद्रयान -3 की सॉफ्ट लैंडिंग की याद दिलाता है और भारत को अंतरिक्ष अन्वेषण में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में स्थान देता है।

4. भारत का अंतरिक्ष क्षेत्र अपने भविष्य की कल्पना कैसे करता है? भारत के अंतरिक्ष उद्योग का मूल्य संभावित रूप से 8 से 16 बिलियन डॉलर तक दोगुना होने का अनुमान है, जो नवाचार और विकास के लिए एक आशाजनक भविष्य प्रस्तुत करता है।

5. चंद्रमा पर ‘शिव शक्ति’ और ‘Tiranga’ नाम किसका प्रतीक हैं? ये नाम भारत की प्रगति, एकता और अंतरिक्ष अन्वेषण के क्षेत्र में आने वाले उज्ज्वल भविष्य का प्रतीक हैं।

Leave a Comment

close
Thanks !

Thanks for sharing this, you are awesome !